असफलता का मूल कारण !

यह हमारी रोजमर्रा के जीवन का अनुभव है, सबके साथ होता है। आप किसी विशिष्ट कार्य का संकल्प लेकर काम कर रहे हैं। थोड़ी बहुत अड़चन तो हर काम में आती हैं। हो सकता है कई दिनों,महीनों और कभी-कभी तो कई सालों तक कोई उसमें प्रगति न हो। तो आप उस कार्य को छोड़ देते…

THIRD EYE

The source of all Life problem in life is our unawareness – non consciousness. Message of Gautam, The Buddha is simple. To turn inward. The message is simple but the way is arduous. Arduous because we are accustomed to see outside. Object is our focus. We are so oblivious towards the things outside that we…

BREAK MIND PATTERNS

Friends, Life is an opportunity. I always see it as a blessing when someone faces situations where he or she sees no way out. Nobody’s there to help him. He sees himself in the most vulnerable situation. His feelings depict as if he is the most unfortunate, unlucky creature on this planet. That is the…

क्या मनुष्य शरीर है या आत्मा ?

सुख की आकांक्षा वास्तव में आनंद की आकांक्षा है। सुख की आकांक्षा सत्य की आकांक्षा है। सुख की आकांक्षा स्वयं की खोज की यात्रा है। आनंद की खोज स्वयं की खोज है। स्वयं के भीतर जो अनिर्वचनीय, शाश्वत आत्मतत्व विराजमान है, उसकी खोज है। आनंद की खोज आत्मा की खोज है। समृद्धि हर एक के…

जीवन दुखों से कैसे मुक्त हो ?

अनंत काल से मनुष्य की ये चाह रही है कि कैसे दुखों से मुक्ति मिले और कैसे आनंद की प्राप्ति हो ? व्यक्ति दुखों से तो मुक्त होना चाहता है मगर नकारात्मकता से मुक्त होना नहीं चाहता। स्वयं के भीतर का कर्ताभाव नकारात्मकता है। नकारात्मकता से मुक्त हुए बिना आप आनंद का अनुभव नहीं कर…

TRANSFORMATION OF ENERGY

Man is the only being who has the potential to transform himself. Life transformation is only possible through clearly understanding the importance of life energy, giving it the right direction and stabilizing in it. The most fundamental of this Energy is Sexual Energy. Sexual Energy can create more human beings by sexual activity and it…

How to face Sufferings?

Buddha’s teachings never involves God, but instead revolves around Emptiness or Nothingness. He gives the understanding of Emptiness as our Being, our Centre – the Source. All our sufferings and mind patterns are at the periphery. Our Centre is our Beingness. If we treat our sufferings as the centre then life is full of agony…

SELF CONSCIOUSNESS

Self-consciousness is morbidity. It is a block to your overall well-being. To be in self-conscious is to believe in yourself as the centre. It also basically means, living with ego. Ego is a metaphysical term.To put it in the right way is to say that living in self-consciousness is to live a life in conflict.…

विचार और दर्शन

ज्ञान का जन्म विचारों की शून्यता के बाद होता है। शून्यता के अनुभव में से जो आपके भीतर से प्रकट हो वही वास्तविक ‘ ज्ञान’ है। बाहर के ग्रंथों से सुना पढ़ा ज्ञान तो आपको ‘ज्ञानी’ होने का धोखा दे सकता है। विचार और दर्शन दो विरोधी घटनाएं हैं। विचार चेतना को ढके हुए हैं।…

CALM MIND

Calm mind brings Inner strength & confidence for overall well-being of the body. It is very important for good health that one has a quite mind. Well-being is about the combination of sound body, sound mind and loveful soul. How to have calmness in mind in these times of hectic lifestyle is a million dollar…