EARN TO GIVE

आज हम एक बहुत ही छोटी उम्र के अरबपति मगर दिलदार व्यक्तित्व ऐसे Sam Bankman की बात करने वाले हैं। उन्होंने अपना सारा जीवन एकमात्र उद्देश्य के लिए समर्पित कर दिया और वह हैं Earn to Give। उन्होंने अपनी सारी संपत्ति दूसरों के कल्याण के लिए दान देने का एकमात्र अपना जीवन लक्ष्य बनाया है।…

वर्तमान में जीना और सृजनात्मकता।

जो करें अपना पूरा उसमें दे दें। हम जो भी कर रहे हैं हम वही नहीं हैं। अगर आप क्रोध करते वक्त पूरा क्रोध बन जाए तो शायद दुबारा क्रोध न करें। शक्ति को संग्रह किए बिना कोई भी सफलता असंभव है ,चाहे वह भीतर ध्यान की यात्रा की कामना हो या धन प्राप्ति की।…

BALANCE

Osho says…Sadness gives depth, Happiness gives heights. Sadness gives roots, happiness gives branches. Happiness is like a tree going into the sky and sadness is like the roots going deep down into the womb of the earth. Both are needed simultaneously so that the tree goes higher and also deeper. Bigger the tree the bigger…

क्या जगत मिथ्या है ?

सत्य की कोई परिभाषा नहीं हो सकती। जो परिभाषित किया जा सके वह सत्य नहीं हो सकता ! जो शब्दों के परे है, जो अनिर्वचनीय हैं वही सत्य है । सत्य शब्दातीत है,मनातित है। सत्य अनुभव है, जो मन के अतिक्रमण के बाद अनुभव में आता है। निर्विचार की वह अवस्था जहां मन न हो,…

THE IDEAL JOURNEY

Journey towards enlightenment should start from the body. Journey towards enlightenment should start from inside out that is from the roots & ultimately to the flowers. When a seeker walks on the inner path, it results into aligning oneself to the roots. There can be a different Journey – Outside to In. Our present education…

ठहरो और पा लो…

अपने चारों ओर नजर घुमाओ । लोग भागते हुए नजर आएंगे। जरा उन्हें रोककर कोई पूछे भाई क्यों भाग रहे हो ? उससे जवाब ना पा सकोगे ! व्यक्ति सुबह से शाम तक बेमतलब से भागा जा रहा है। कोई दो कमरे के मकान में रह रहा है , खुश है मगर भाग रहा है।…

AUTHENTIC ALCHEMY

Zen Masters advocate knowing one’s beingness as the only authentic Alchemy. To experience the Buddha within is what entering the world of Zen means. This entering is without doors. Outward world needs a door to move from one room to another. Inward journey needs no door, it is a doorless journey. More so, inward Journey…

आठ सोने की मोहर

वह इंसान जो जितना छोड़ने को राज़ी है असल में वही इंसान कई गुना पाने का भी हकदार है। और कमाल की बात है कि जो ऐसे त्याग को तैयार है उसे सबकुछ स्वतः ही प्राप्त होने लगता है । बिन मांगे, बिन कहे जादुई तरीके से। बात दो दोस्तों की है। वह आपस में…

सम्राट का मुकुट

जीवन में नकारात्मकता से भरा हुआ चित् स्वत: ही असफलता और विनाश को उपलब्ध होता है। शुभ भावनाओं और सकारात्मकता से भरा हुआ चित् बड़ी से बड़ी कठिनाइयों के रहते भी, चुनौतियों के अंदर भी आशा को ढूंढ लेता है। यह बात है चीन की, जहां पर एक सम्राट हुआ। उसके राज्य में एक प्रसिद्ध…

Denial of the Inner

Don’t take Life Seriously. It is just a Drama. Nothing less, nothing more. When you tend to take life seriously, you get disassociated with the Inner Self. Denial of the Inner core creates an artificial center of Existence. Since this center never existed nor can ever exist, it is bound to be a Pseudo Centre.…