“गुरू आया, उसने देखा और मैं धन्य था।”

इस ब्रह्मांड में आशीर्वाद के अलावा सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है। यह जागृत आत्मा के माध्यम से ऊर्जा प्राप्त करने का एक दिव्य तरीका है।

हम आमतौर पर ब्रह्मांड की परिधि में बंधे रहते हैं। आध्यात्मिक यात्रा में इस बाहरी परिधि से केंद्र तक की यात्रा करनी होती है। बाहरी सतह विचारों का बादल है। भीतर साफ आकाश है – बादलों की अनुपस्थिति। बाहरी दृश्य हैं जो हम चारों ओर देखते हैं; अंदर वह है जो यह सब देखता है । याद रखें यह आपकी आंख नहीं है । क्योंकि यह भी शरीर का ही एक हिस्सा मात्र है। यह भी एक ऑब्जेक्ट है ।इस आंख को भी देखने वाला साक्षी मौजूद है। इस देखने वाले को जान लेना ही स्वयं को जान लेना है । एक बार जब आप यह जान जाते हैं, तो कुछ भी जानना शेष नहीं रहता । यह जागरूकता एकत्व को लेकर आती है कि पहाड़ों में, नदियों के बहने में, पेड़ों के खिलने में, हर पुरुष और महिला में एक वहीं मौजूद है। यही स्वतंत्रता है। स्वतंत्रता अपने से – बुद्धत्व ।

लेकिन खुद को जानने के लिए, अंदर जाना होगा। ध्यान ही भीतर जाने का एकमात्र उपाय है, स्वयं को जानना। जो अंदर है उसे किसी भी तीर्थ यात्रा करने से, अनुष्ठान कर लेने से जाना नहीं जा सकता क्योंकि वो भी सब ‘बाहर’ है। यह शरीर, विचारों और भावनाओं के जागरूकता के साथ शुरू होता है जो स्व की ओर ले जाता है। आप आंतरिक दुनिया में पहुंचते हैं, जो अतीत और भविष्य से मुक्त है, सभी मान्यताओं और पैटर्न से मुक्त है, बस आनंद की स्थिति में, परम आनंद । यह तथाता के की ओर जाता है यानी टोटल समर्पण और ज़ज़ेन यानी सिर्फ बैठना कुछ करना नहीं,सिर्फ पूरी तरह से जागरूक। यह जागरूकता मात्र सूचना या ज्ञान के संग्रह की नहीं है बल्कि ध्यान के माध्यम से स्वयं की एक सच्ची समझ है। आध्यात्मिक यात्रा की मात्र जानकारी निश्चित धारणाओं की सीमाओं के भीतर एक को परिभाषित करती है, जिससे कुछ भी नहीं होता है; लेकिन सच्चा ज्ञान हमेशा के लिए खुशी की ओर ले जाता है।

हमारे अनुकूलित ‘स्पिरिचुअल अवेकनिंग’ निर्देशित कार्यक्रमों में एक व्यक्ति के माइंड-बॉडी-इमोशन पैटर्न को समझना, ऊर्जा के संरक्षण के महत्व, इसके परिवर्तन और ध्यान के माध्यम द्वारा निचले स्तर से चेतना के उच्च स्तर तक की गति को समझना शामिल है।

ध्यान खुद को बाहरी दुनिया में बेशर्त प्रेम के रूप में प्रकट करता है …सभी के लिए प्रेम।

रहस्यवादी दृष्टि के माध्यम से ध्यान के चमत्कार का अनुभव करें – आपका दिव्य मित्र – ’साक्षी’ नरेंद्र

 ‘साक्षी ‘ नरेंद्र के व्यक्तिगत परामर्श द्वारा आप अपने जीवन को ध्यान और प्रेम के माध्यम द्वारा उर्जा संतुलित और भीतरी रूपांतरण कर सकते हैं जहां पर आपके जीवन में समृद्धि के साथ साथ आंतरिक आनंद भी हो ।

सम्पर्क…

www.mysticvision.net

WhatsApp : +91-7405 364656

Leave a Reply